Skip to main content

Vivekananda Kendraविवेकानन्द केंद्र कन्याकुमारी शाखा पटना द्वारा स्थानीय कार्यकर्ता प्रशिक्षण शिविर का आयोगन 16 जुलाई से 19 जुलाई 2015 तक भगवान जगन्नाथ आचार्य प्रशिक्षण महाविद्यालय, कुम्हरार, पटना में किया गया। शिविर का शुभारम्भ 16 जुलाई प्रथम सत्र राष्ट्रभक्त सन्यासी स्वामी विवेकनान्द से हुआ, इस विषय पर मार्गदर्शन श्री रामनाथ मिश्रा जी (C.A.), वरिष्ठ समाजसेवी द्वारा किया गया।

शिविर के द्वितीय दिन में प्रथम सत्र स्व-रूपांतरण की प्रक्रिया विषय पर मार्गदर्सन बिहार-झारखण्ड के प्रान्त संगठक श्री मुकेश कीर जी द्वारा किया गया। द्वितीय सत्र इतिहास की विकृतीकरण विषय पर मार्गदर्शन डॉ. नन्दकिशोर पाण्डेय जी (प्राध्यापक अंग्रेजी) द्वारा किया गया। इस शिविर के प्रथम दिन के अभ्यास सत्र में हमारे उत्सव विषय पर मार्गदर्शन श्रीमती रीता सिंह जी (निवेदिता वाहिनी प्रमुख) द्वारा किया गया।

द्वीतीय के प्रथम सत्र राष्ट्र के समक्ष चुनौतियाँ विषय पर मार्गदर्शन आदरणीय श्री मोहन सिंह जी(क्षेत्रीय कार्यवाह) द्वारा किया गया। द्वितीय सत्र में एकनाथजी और शिलास्मारक विषय पर मार्गदर्शन श्री ज्ञानेश्वर शर्मा जी(नगर प्रमुख) द्वारा किया गया। द्वितीय दिन के पाथेय में केंद्र प्रार्थना पर मार्गदर्शन डॉ. अजय कुमार जी(वरिष्ठ समाजसेवी व केंद्र के संरक्षक) के द्वारा किया गया। तृतीय दिन के प्रथम सत्र में कार्यकर्ता:: गुण, लक्षण, विशेष  विषय पर मार्गदर्शन आदरणीय श्री मुकेश कीर जी द्वारा किया गया। अभ्यास सत्र में कार्यक्रम: पूर्व नियोजन, पूर्ण नियोजन, अनुवर्तन  विषय पर मार्गदर्शन डॉ. पंकज कुमार जी (प्रान्त प्रशिक्षण प्रमुख) द्वारा किया गया।

आहुति सत्र श्री धर्मदास(नगर संगठक,पटना) द्वारा लिया गया जिसमे नियमित कार्यपद्धति में सहयोगी होने, अल्पकालीन, सेवाव्रती व पूर्णकालिक के लिए अवावाहन किया गया। शिविर में एक दिन केंद्र वर्ग कैसे लेना है उसका भी प्रशिक्षण दिया गया। शिविर में मंथन का विषय जीवन में सफलता का रहस्य, राष्ट्र के समक्ष चुनौतियों का समाधान व कार्यकर्ता के गुणों का जीवन पर्यंत के लिए अपने कार्यपद्धति के माध्यम से कैसे विकसित कर सकते हैं।

शिविर में गीत और मंत्र अभ्यास का भी प्रशिक्षण दिया गया। रात्रि में प्रेरणा से पुनरुथान में नये-नये खेल, अभिनय गीत साथ में एकनाथजी का जीवन चरित्र की घटनाओं पर मार्गदर्शन श्री धर्मदास जी द्वारा लिया गया। शिविर में कुल उपस्थिति 46 रही है जिसमे से 12 बहनें और 25 भाई, साथ ही संचालान और व्यवस्था में 9 कार्यकर्ताओं की सहभागिता रही। शिविर के अंतिम दिन सभी सहभागी 108 सूर्यनमस्कार भी लगायें। कार्यक्रम में शिविर अधिकारी के रूप में श्री ज्ञानेश्वर शर्मा(नगर प्रमुख, वि.के.पटना) रहें।

State

Get involved

 

Be a Patron and support dedicated workers for
their Yogakshema.

Join in Nation Building
by becoming teacher in North-East India.

Doctors are required
in IOCL Vivkenanda
Kendra's Hospital.

Opportunities for the public to cooperate with organizations in carrying out various types of work