Skip to main content

MEJSP concluding celebration "SAMIDHA" by Paschim Banga Pranta was held at Maharshi Dadhichi Bhavan on 20/12/2015 after his birthday celebration at 76/2, Bidhan Sarani on 19th November, the place wherefrom Eknathji used to run the  office of Vivekananda Rock Memorial and Vivekananda kendra. After the Shantipath , Kaushik Sarkar's rendition of Geet "Satsah naman Sri Eknathji" made all to bow their heads with sraddha and samarpan. Sri Kinsuk Pallav Biswas introduced the Guests and deivered welcome address.

Samidha at Jodhpurविवेकानन्द शिलास्मारक के प्रणेता और विवेकानन्द केंद्र कन्याकुमारी के संस्थापक माननीय एकनाथजी रानडे की जन्मशती पर्व के उपलक्ष्य में जोधपुर शाखा द्वारा, गीताभवन स्थित योगक्षेम भवन में ‘समिधा’ कार्यकर्ता मिलन कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

Samidha at Biharउपरोक्त उक्तियाँ माननीय एकनाथ जी जन्म शती पर्व के समापन कार्यक्रम “समिधा“ में आनंद कुमार विवेकानन्द केंद्र के गया नगर के वरिष्ठ कार्यकर्ता ने कही। वे उपरोक्त कार्यक्रम में मुख्या वक्ता के रूप में बोल रहे थे। कार्यक्रम का आयोजन विवेकानन्द केंद्र की पटना शाखा द्वारा आई.आई.बी.एम.

Samidha Varga in Bilaspur28/11/15 को संध्या 05:30-08:30 विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी के बिलासपुर इकाई द्वारा "समिधा वर्ग" का आयोजन किया गया था। जिसमें अमरकंटक तथा पेंड्रा वाले स्वामी जी का सानिध्य प्राप्त हुआ, साथ ही विवेकानंद केंद्र मध्य प्रांत संगठन भंवर सिंह राजपूत जी का उद्बोधन हुआ।

Samidha Varga at Indoreविवेकानंद केंद्र के संस्थापक मा. एकनाथजी रानडे इनका १०० वा जन्म दिवस १९ नवम्बर २०१४ से १९ नवम्बर २०१५ मनाया गया है। अतः इस अवसर पर विवेकानंद केंद्र इंदौर नगर में समिधा वर्ग का आयोजन किया गया। सम्मलेन में मुख्य रूप से मा.

Samidha at Dadar 2015Vivekananda Kendra Dadar, Mumbai celebrated Ekanatji 100th birth centenary in 2014-15.Samidha programme was organised  on 23rd nov. 2015 in karnataka sangh(Hall) from 7 to 9.30 pm. Ma. Nivedita Bhide, vice president of Vivekananda Kendra was chief guest.

Samidha at Napur 2015नागपुर, नवम्बर 23 : विवेकानन्द केन्द्र कन्याकुमारी की अखिल भारतीय उपाध्यक्षा सुश्री निवेदिता भिड़े ने कहा कि स्वामी विवेकानन्द का विजन एकनाथजी का मिशन है। स्वामी विवेकानन्द ने सुप्त भारतीय समाज को अपनी ओजस्वी वाणी से जाग्रत करते हुए कहा था, “हे भारत, उठो!

Get involved

 

Providing quality health care service to the
Rural and Janajati people.

Camps

Yoga Shiksha Shibir
Spiritual Retreat
Yoga Certificate Course

Join as a Teacher

Join in Nation Building
by becoming teacher
in North-East India.

Opportunities for the public to cooperate with organizations in carrying out various types of work