Skip to main content

विवेकानन्द केन्द्र द्वारा एकनाथजी फिल्म का क्रिस्टल पार्क में प्रदर्शनविवेकानन्द केन्द्र कन्याकुमारी शाखा-भागलपुर द्वारा दिनाँक 26 नवम्बर  को सुन्दरवती महिला महाविद्यालय में युवा सम्मेलन का आयोजन किया गया जिसकी कुल उपस्थिति 40 रही | दिनाँक 27 नवम्बर  को भागलपुर विभाग के नौगछिया जिले के गौरीपुर सत्यदेव महाविद्यालय में युवा सम्मेलन सम्पन्न हुआ जिसकी कुल उपस्थिति 30 रही...! दिनाँक 28 नवम्बर  को भागलपुर विभाग के मुंगेर केन्द्र द्वारा 2 स्थानों GRS कॉलेज मुंगेर और BRM कॉलेज में युवा सम्मेलन का आयोजन किया जिसकी कुल उपास्थिति 70 रही!

किशनगढ़ । आज विभिन्न क्षेत्रों में किए जा रहे सेवा कार्य जहां स्वार्थ पर आधारित हैं वही हिंदू धर्म विश्व में एकमात्र ऐसा माध्यम है जो निस्वार्थ भाव से सेवा करता है तथा जिसका मूलमंत्र ही सर्वे भवन्तु सुखिनः है। स्वामी विवेकानंद ने अमेरिका में वेदांत को बहुत साधारण शब्दों में समझाते हुए कहा था कि नर सेवा ही नारायण सेवा होती है। भारत में रंतिदेव, स्वामी अखंडानंद और ऐसे अनेकों संतों ने अपने जीवन को सेवा के लिए समर्पित कर दिया। एकनाथ जी स्वामी विवेकानंद के हनुमान कहे जाते हैं। एकनाथ जी के जीवन पर आधारित फिल्म केवल मनोरंजन करने का साधन नहीं है अपितु कार्य में जुट जाने की प्रेरणा लेने के संकल्प का माध्यम है। आज किशनगढ़ नगर का यह सौभाग्य है कि जिस नगर ने स्वामी विवेकानंद की चरण धूलि प्राप्त की थी वहीं आज उनके नाम पर बने कन्याकुमारी में शिला स्मारक के निर्माता एकनाथ जी के जीवन का चित्रण यहां किया जा रहा है। स्वामी विवेकानंद युवाओं का आव्हान करते हुए कहते थे कि आगामी 50 वर्षों के लिए यदि समस्त देवी-देवताओं को छोड़ कर केवल भारत मां के स्वरूप की ही पूजा की जाए और उसकी ही वंदना हो तो भारत फिर से विश्वगुरु बन सकता है। एकनाथ जी ने यह सिद्ध कर दिया केवल चित्र की पूजा ना करके श्रेष्ठ चरित्र का अनुसरण एवं आचरण की आज आवश्यकता है। बंकिम चंद्र चटर्जी ने वंदे मातरम गीत में त्वं ही दुर्गा कहते हुए भारत मां के स्वरूप को ही सब कुछ माना है। उक्त विचार राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के क्षेत्र कार्यवाह श्री हनुमान सिंह राठौड़ ने विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी शाखा किशनगढ़ द्वारा आयोजित क्रिस्टल पार्क सिनेमा में एकनाथजी फिल्म के प्रदर्शन के अवसर पर उपस्थित युवाओं को संबोधित करते हुए व्यक्त किए।

इस अवसर पर किशनगढ़ के विधायक श्री भागीरथ चौधरी ने बोलते हुए कहा कि विवेकानंद केंद्र संपूर्ण भारतवर्ष में मनुष्य निर्माण से राष्ट्र पुनरुत्थान के लिए कार्य कर रहा है। किशनगढ़ में विवेकानंद केंद्र का कार्य सराहनीय है और इसे जन-जन तक पहुंचाने की आवश्यकता है। विवेकानन्द केन्द्र की विद्यालय संपर्क प्रमुख मृदुला व्यास ने इस अवसर पर क्रिस्टल पार्क सिनेमा को इस फिल्म हेतु निःशुल्क उपलब्ध कराने के लिए ललित हासानी एवं एवं अजय विशनानी का विशेष आभार व्यक्त किया। संयोजक राजेंद्र सिंह खंगारोत ने बताया कि इस अवसर पर विवेकानंद केंद्र कन्याकुमारी राजस्थान प्रांत के प्रशिक्षण प्रमुख डॉ. स्वतंत्र शर्मा सहित शहर के गणमान्य नागरिक भी उपस्थित थे। कार्यक्रम में मोहन कृष्णानी, लाजवंती भारद्वाज, हेमराज, अंकित सोनी, विष्णु मालाकार सहित केन्द्र के सभी कार्यकर्ताओं ने सहयोग दिया। कार्यक्रम का संचालन दीपाली शर्मा ने किया।

Mananeeya Eknathji Janma Sati Parva

Get involved

 

Be a Patron and support dedicated workers for
their Yogakshema.

Join in Nation Building
by becoming teacher in North-East India.

Doctors are required
in IOCL Vivkenanda
Kendra's Hospital.

Opportunities for the public to cooperate with organizations in carrying out various types of work