Skip to main content
geeta-jayanti-program-nagpur-december-2019

भगवान श्रीकृष्ण ने कुरुक्षेत्र की युद्धभूमि में अर्जुन के सम्मुख जो ज्ञान की गंगा बहाई, वह वाणी श्रीमद्भगवद् गीता के रूप में सर्वत्र उपलब्ध है। यह गीता माँ ही है जो हमारा पोषण करती है, हमें ध्येयमार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करती है, उस योग्य बनाती है। इसलिए आचार्य विनोबा भावे ने गीता को "माऊली" अर्थात् माता कहा है।

Gita-jayanti-ajmer-2019

नगर प्रमुख अखिल शर्मा ने बताया कि इस अवसर पर गीता पर आधारित प्रश्नोत्तरी का संचालन महर्षि दयानन्द सरस्वती विश्वविद्यालय, अजमेर के योग विभाग के डाॅ0 लारा शर्मा ने किया।

geeta-jayanti-jodhpur-december-2019

भगवत गीता का पारायण युवावस्था से ही प्रारंभ होना चाहिए। गीता में जीवन जीने की कला भगवान श्रीकृष्ण ने बताई है, और यह हर व्यक्ति को अपने युवा काल में ही ज्ञात होनी चाहिए। भगवत गीता में आज के व्यक्तिगत और सामाजिक हर समस्या का समाधान है।

Geeta Jayanti Belgaum

Vivekananda Kendra Belgavi, celebrated Gita Jayanti on December 19th at Shri Keshav Kulkarni's house. Shri Keshavji who is Sanskrit teacher explained the importence of Srimadbhagvadgita in our life. Gita pojan also was performed by all the Karyakartas including Shri Sanjay Kulkarni.

Geeta Jayanti in Bhagalpurगीता जयन्ती के तत्वावधान में विमर्श कार्यक्रम का आयोजन स्थानीय आनंदराम ढांढानियाँ सरस्वती विद्या मन्दिर के सभागार  में किया गया..! विवेकानन्द केन्द्र कन्याकुमारी के महासचिव डी.

Get involved

 

Providing quality health care service to the
Rural and Janajati people.

Camps

Yoga Shiksha Shibir
Spiritual Retreat
Yoga Certificate Course

Join as a Teacher

Join in Nation Building
by becoming teacher
in North-East India.

Opportunities for the public to cooperate with organizations in carrying out various types of work